26 September 2015 Daily GK Update Hindi & English

By | 27th September 2015

Shivinder Mohan Singh resigned as executive vice-chairman of Fortis Healthcare Limited

Shivinder Mohan Singh on 23 September 2015 resigned as the executive vice-chairman of Fortis Healthcare Limited. Fortis is a New Delhi based hospital chain.

Shivinder, along with his elder brother Malvinder Mohan Singh, runs 55 hospitals under the Fortis brand across India. At present, Malvinder is the executive chairman of the company.

शिविंदर मोहन सिंह ने फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड के कार्यकारी वाइस चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया

23 सितंबर, 2015 को शिविंदर मोहन सिंह फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड के कार्यकारी उपाध्यक्ष के रूप में इस्तीफा दे दिया। फोर्टिस नई दिल्ली आधारित अस्पताल श्रृंखला है।

शिविंदर, उनके बड़े भाई मालविंदर मोहन सिंह के साथ-साथ पूरे भारत में फोर्टिस ब्रांड के तहत 55 अस्पतालों को चलाता है। वर्तमान में, मालविंदर कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं।

Rear Admiral Sanjay Mahindru took charge as Flag Officer Submarines

Rear Admiral Sanjay Mahindru took charge as Flag Officer Submarines. He has replaced Rear Admiral SV Bokhare.

As the Flag Officer Submarines, he will be responsible for the operations of INS Chakra S71- the lone nuclear powered submarine of the Navy, 10 Sindhughosh class submarines and 4 Shishumar class submarines.

रियर एडमिरल संजय महिंद्रू ने फ्लैग ऑफिसर पनडुब्बी का पदभार संभाला

रियर एडमिरल संजय महिंद्रू एनएम ने रियर एडमिरल एस वी बोखारे से फ्लैग ऑफिसर पनडुब्बी का पदभार ग्रहण किया है|

रियर एडमिरल महिंद्रू को 01 जनवरी 1985 को कमीशन मिला था और वे पनडुब्बी विंग में 27 वर्ष सेवा कर चुके हैं|

 

Prohibition of Child Marriage Act, 2006 to apply on Muslims also: Gujarat High court

The Gujarat High Court ruled that the Prohibition of Child Marriage Act (PCMA), 2006 will also apply to a Muslim person and the act will prevail over personal laws. The ruling was made by Justice JB Pardiwala.

The ruling held that the Child Marriage Act is a Special Act and it will override the provisions of Muslim Personal Law, Hindu Marriage Act or any personal law. Justice Pardiwala also observed that sixteen years is not an age for a girl to get married.

बाल विवाह निषेध अधिनियम, 2006 मुसलमानों पर लागू करने के लिए का आदेश दिया: गुजरात उच्च न्यायालय:

गुजरात उच्च न्यायालय ने बाल विवाह अधिनियम का निषेध, 2006 में भी मुस्लिम व्यक्ति के लिए भी लागू होगी

यह निर्णय न्यायमूर्ति जेबी पारडिवाला द्वारा किया गया था।

बाल विवाह अधिनियम के एक विशेष अधिनियम है इसमे यह मुस्लिम पर्सनल लॉ, हिंदू विवाह अधिनियम या किसी पर्सनल लॉ के प्रावधानों की रक्षा करता है

न्यायमूर्ति पारडिवाला ने माना की लड़की की शादी करने की सही उम्र सोलह साल नही है

 


26 September 2015 Daily GK Update Hindi & English